पेट कम करने के घरेलू तरीके और उपचार

बड़ा हुआ पेट ना सिर्फ आपके स्वास्थ्य के लिए खतरा है बल्कि आपकी पर्सनल्टी पर भी असर डालता है. मोटापा आलस्य को पैदा करता है जिसकी वजह से काम में भी मन नहीं लगता और इसकी वजह से शुगर और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है.

भगवान हर किसी को सही ही बनाता है लेकिन उसके दिए शरीर को बिगाड़ने का काम मानव खुद ही करता है और मोटापा भी उसी में से एक है. आज के समय में मोटापे को कम करने की हजारों दवाइयाँ बाजार में उपलब्ध है लेकिन यह दवाइयाँ कम समय के लिए ही प्रभाव डालती है और स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है.

Read Also –Vajan Kam Karne Ki Medicine – वजन कम करने की मेडिसिन

इसलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको कुछ घरेलू उपायों के बारे में बताएँगे जिसकी मदद से आप मोटापे को आसानी से और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के कम कर सकते है. आईये जानते है ऐसे ही कुछ घरेलू उपायों के बारे में जिनकी मदद से आप बड़े हुए पेट को कम कर सकते है. 

पेट कम करने के घरेलू तरीके और उपचार

1. निम्बू, शहद और गर्म पानी

सुबह उठने के बाद शौच से निपटने के बाद खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच निम्बू का रस मिला दे तथा इसे अच्छे से हिलाकर पी ले. कम से कम 3-4 महीने तक इस नुस्खे को अपनाएं और फिर देखिये इसके परिणाम आपको हैरान कर देंगे.

2. करेला और निम्बू

सुबह खाली पेट करेले के जूस में निम्बू का रस मिलाकर पीने से पेट की चर्बी जल्दी कम होने लगती है. हालाँकि करेले का जूस कडवा होता है इसलिए आप आधा गिलास पी सकते है.

3. खाने के बाद करें यह उपाय

खाना खाने के बाद एक गिलास छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीयें. इस उपाय से खाना भी पचता है और मोटापा भी कण्ट्रोल में रहता है.

Must Read –Vajan Kam Karne Ki Vidhi – वजन कम करने की विधि

4. ग्रीन टी

बड़े हुए पेट को कम करने में ग्रीन टी किसी वरदान से कम नहीं है और बहुत से लोग इसका यूज़ करते है. शोध में भी यह बात सामने आई है की ग्रीन टी अतिरिक्त वसा को कम करता है. दिन में 2-3 बार आप ग्रीन टी का सेवन करें. सुबह खाली पेट ग्रीन टी का सेवन करने से बेहतर परिणाम मिलते है.

5. अदरक

अदरक में ऐसे एंटी-ओक्सिडेंट तत्व होते है जो फैट को कम करते है और अतिरिक्त चर्बी को हटाते है. इसलिएपेट की चर्बी को कम करने के लिए आप अदरक का पानी पी सकते है. सबसे पहले अदरक को दो टुकड़ों में काट दे और इसे एक कप पानी में उबाले. 10 मिनट उबालने के बाद अदरक के टुकड़ों को निकाल ले और इस पानी को पी ले.

6. दही दही में अच्छे बैक्टीरिया होते है जिसकी वजह से शरीर का मेटाबालिज्म उत्तेजित होता है और बढ़ता है जिससे तेजी से वजन घटता है. इसलिए आप रोजाना दिन में 2 बार दही पी सकते है.

इन प्रोडक्ट के इस्तेमाल से आप तेजी से वजन घटा सकते है

गार्सिनिया कैम्बोजिया

गार्सिनिया कैम्बोजिया एक कद्दू के आकार का पीले या हरे रंग का फल है. जब इसे सुखाते है और इसका भण्डारण करते है तो इसका रंग आमतौर पर गहरे भूरे या काले रंग में बदल जाता है. इसका उपयोग मछली करी तैयार करने के लिए किया जाता है. इस फल के छिलके के अर्क से गर्सिनिया कैम्बोजिया सप्लीमेंट तैयार किया जाता है.

इसमें हाइड्राक्सीसिट्रिक नामक एसिड होता है जिसकी वजह से वजन कम करने में यह बहुत कारगार है. इसी गुण के कारण इसे पाउडर और कैप्सूल रूप में बदला गया है ताकि वजन कम करने में यह कारगार साबित हो सके. इसका प्रयोग खाना खाने से आधे घंटे पहले करना चाहिए और रोजाना 2 कैप्सूल का सेवन करें.

ग्रीन कॉफ़ी

ग्रीन कॉफ़ी वजन कम करने के लिए एक रामबाण दवा है. अगर आप रोजाना सुबह खाली पेट नाश्ते से पहले ग्रीन कॉफ़ी का सेवन करते है तो आप कम समय में आसानी से अपना वजन कम कर सकते है. आपको

बस इतना बदलाव करना है की टी और कॉफ़ी की जगह ग्रीन कॉफ़ी को जोड़ना है. यह आपकी मेटाबलिज्म की दर को बढ़ा देता है जिसकी वजह से ज्यादा कैलोरी खर्च होती है और वजन तेजी से कम होता है.

सामान्य प्रश्न पेट कम करने के घरेलू तरीके और उपचार से संबंधित

Question 1. घरेलू तरीकों से वजन कितने दिन में कम हो सकता है?

Ans. – घरेलू तरीकों से वजन कम करने में टाइम लगता है. लेकिन अगर आप सही तरीके से एक्सरसाइज़ और डाईट का पालन करते है ओत साथ में घरेलू तरीकों को अपनाते है तो कम समय में ही आप अच्छा ख़ासा वजन कम कर सकते है. काफी लोगों ने मात्र एक महीने में 6-7 किलो वजन कम किया है.

Question 2. वजन कम करने के लिए क्या ना खाएं?

Ans. – वजन कम करने के लिए चीनी से बनी चीजें, फ़ास्ट फ़ूड, मीठे पेय पदार्थ, ज्यादा कार्बोहाइड्रैड युक्त भोजन, उच्च वसा युक्त खाद्द पदार्थ, मांसाहारी भोजन, अधिक तेल की चीजें आदि नहीं खानी चाहिए.

Question 3. क्या ज्यादा सोने से वजन बढ़ता है?

Ans. – जी हाँ, ज्यादा सोने से बॉडी सुस्ती का शिकार हो जाती है जिससे वजन बढ़ता है. ऐसा सर्दियों के मौसम में ज्यादा होता है क्योंकि उस वक्त दिन छोटे और रातें लम्बी होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *